जीवन के रंग17 June, 2019
Financial Tips for youths www.JeevanKeRang.com

युवाओं के लिए 10 महत्वपूर्ण वित्तीय सुझाव – 10 Best Financial Tips

भारत में अधिकतर युवा २२ वर्ष के आसपास, अपने career की शुरुआत किसी नौकरी या बिज़नस से करते हैं | यही उम्र कुछ मस्ती करने, कुछ नये अनुभव हासिल करने की भी होती है और अक्सर हम अपने सारे संसाधन जैसे कि समय, उर्जा और धन को बेफ़िक्र होकर खर्च कर देते हैं | लेकिन हर व्यक्ति का भविष्य अनिश्चित होता है | एक समझदार युवा होने के नाते, यदि हमें धन का सदुपयोग करना आता है तो हम वर्तमान के साथ साथ भविष्य को भी सुरक्षित कर सकते हैं और ज्यादा एन्जॉय कर सकते हैं |

इस लेख और वीडियो के माध्यम से हम जानते हैं कि अपने धन को कैसे बचाया और बढाया जा सकता है – (money saving tips)  जिससे हम बिना डर के भविष्य में आने वाले किसी भी आर्थिक संकट का मुकाबला कर सकें और खूब मस्ती से जीवन चला सकें |

Hindi Financial Education का यह वीडियो युवाओं के लिये निम्नलिखित 10 Financial Tips के बारे में बताता है :-

  1. पर्सनल फाइनेंस के ऊपर कण्ट्रोल और पैसे बचत का सही तरीका

आप जो भी कमाते हैं उसे कैसे मैनेज करना सीखें | इसके लिए जरूरी है कि कमाई का 10% बचत करें – उस आकस्मिक समय के लिए जब आपको पैसे की ज्यादा जरूरत पड़ सकती है Income – Saving = Expenses

  1. अपने बचत के पैसे का सुरक्षित निवेश

समझदारी से किया हुआ आपकी बचत का निवेश आपके धन को सुरक्षित भी रखेगा और बढ़ायेगा भी | इसलिये सुरक्षित निवेश के बारे में अवश्य सीखना चाहिये | जैसे कि Fixed Deposit, Mutual Fund, Stock Market, Government Bond, Gold Bond इत्यादि |

  1. POWER OF COMPOUNDING को समझना

Financial World में लाभ प्राप्त करने के लिए Power of compounding को समझना अति आवश्यक है | जब हम अपने धन को एक लम्बे समय के लिए invest करते हैं तो हमें Interest पर भी इंटरेस्ट मिलता है जिसे Compound interest कहते हैं | यह हमारी savings को तेजी से बढाता है |

  1. अलग अलग INCOME TYPE को समझना
  • Active Income – यह वो इनकम होता है, जिसके लिए आपको एक्टिव रूप से काम करना पड़ता है – जैसे- जॉब से मिलने वाली आय | यह इनकम फिक्स्ड और रेगुलर होती है और तभी मिलती है जब जब हम काम करते हैं | काम ना करने पर यह इनकम नहीं हाथ लगती |
  • Passive income – यह वो इनकम होता है, जिसके लिए आपको एक्टिव रूप से काम नहीं करना पड़ता है, जैसे – एक मकान से मिलने वाला किराये का इनकम आपका Passive income होता है, क्योकि किराये से मिलने वाले इनकम के लिए आपको कोई भी actively काम नहीं करना पड़ता है | ऐसे ही बैंक फिक्स्ड डिपाजिट से मिलने वाला इंटरेस्ट, या स्टॉक से मिलने वाला डिविडेंड, या ऐसे बिज़नस से मिलने वाला इनकम जिसमे आप एक्टिव रुप से काम नहीं करते |
  • Portfolio income – यह भी एक passive income का ही एक रूप है जिसमे आपका पैसा ही आपके लिए और पैसा कमाता है | उदाहरण के लिए बैंक फिक्स्ड डिपाजिट से मिलने वाला इंटरेस्ट, या स्टॉक से मिलने वाला डिविडेंड, Mutual Fund, Stock Market  इत्यादि |

Making Money from Money is called Portfolio income.

आप तभी अमीर बनते हैं जब आप पैसे के लिये काम नहीं करते, बल्कि पैसा आपके लिए काम करता है

  1. BUDGET बनाना

बजट एक अंग्रेजी का शब्द है – जिसका अर्थ होता है , आय व्यय का अनुमानित विवरण  और इसलिए आप बजट को – आय और खर्च का अनुमानित स्टेटमेट भी कह सकते है | आपकी आमदनी कम हो या ज्यादा, इस बात से ज्यादा फर्क नहीं पड़ता है – फर्क इस बात से पड़ता है कि – आप अपने कमाए गए पैसे को किस तरह से खर्च करते है, यानी आप पैसे को किस तरह मैनेज करते है |

बजट, हमारे आमदनी और खर्च का एक सिंपल स्टेटमेंट होता है,  जिसका मुख्य उद्देश्य होता है  —- फिजूलखर्च पे कण्ट्रोल, बुरे कर्ज से बचना, रेगुलर बचत, और जरुरत के लिए पैसे कम पड़ने की चिंता से आजादी|

  1. EMERGENCY FUND बनाना

“समय हमेशा एक जैसा नहीं रहता है, दिन और रात की तरह ही जिन्दगी में सुख और दुख आते है “

इस quote को ध्यान में रखते हुए हमें अपना जीवन योजनाबद्ध तरीके से जीना चाहिए ताकि हम भविष्य में आने वाले बुरे वक़्त को सुख में बदल सके या फिर उसका सामना कर सके |

आपातकालीन स्थिति से उबरने के लिए फंड बनाना इमरजेंसी फंड कहलाता है। इस फण्ड को क्रिएट करने से हम आने वाली emergency जैसे की – जॉब लोस , unexpected एक्स्पेंसेस , मेडिकल emergency या आमदनी बंद हो जाने पर, इस फण्ड को income से बचत करके इन आपातकालीन स्थिति से उबरने के लिए उपयोग  किया जाता है |

  1. INSURANCE POLICY – बीमा पालिसी

बीमा policy लेना एक बड़ी समझदारी का काम है | बीमा का महत्व किसी दुर्घटना होने पर ही पता चलता है | तो सही समय पर अपने लिए और अपनों की सुरक्षा के लिए TERM PLAN & Health Plan ले लेना चाहिये |

  1. अच्छे कर्ज और बुरे कर्ज की समझ – Good Debt vs Bad Debt

कर्ज अच्छे भी होते है और बुरे भी, ये सब कुछ कर्ज लेने वाले पर निर्भर है, कि कोई व्यकित कर्ज लेने के बाद उसका क्या उपयोग कर रहा है,अगर व्यकित कर्ज का उपयोग, लाभ कमाने, और अधिक पैसे बनाने में कर रहा है तो उस व्यक्ति के लिए कर्ज लेना अच्छा है,लेकिन अगर कोई व्यकित कर्ज लेकर सिर्फ उसका उपभोग कर रहा है, कोई लाभ नहीं कमा रहा है, और कर्ज की रकम को अपने सैलरी से चूका रहा है तो उस व्यक्ति के लिए कर्ज बुरा है|

  1. भविष्य के बड़े खर्चो के लिए फाइनेंसियल प्लानिंग करना – Financial Planning Tips

हमारे जीवन में भविष्य में आने वाले बड़े खर्चो जैसे कि शादी, बच्चो की पढाई, घर बंनाना इत्यादि कि प्लानिंग पहले से ही करना और उसके अनुसार अपनी आय और खर्चों को निश्चित कर एक Fund बनाना ही फाइनेंसियल प्लानिंग कहलाता है |

  1. इन्वेस्टमेंट के बारे सीखना – Learn How and where to Invest

इन्वेस्टमेंट का मतलब है ऐसी सम्पति बनाना जिससे आपको आमदनी होती रहे आपको लगातार धन मिलता रहे | Investment में हम पैसे से पैसा बनाना सिखाते हैं और यह एक लम्बा process है इसलिये जितनी जल्दी हो सके, इसे कम उम्र में ही सीखना शुरू कर देना चाहिये | ताकि वक्त के साथ आप इसके छोटे छोटे पहलूँ को जान सकें |

इन 10 Financial Wisdoms पर young age से काम करके आप जीवन की हर अवस्था में तररकी व खुशहाली पा सकते हैं |

आशा है यह लेख आपके लिये उपयोगी होगा | अपने विचार हमें अवश्य लिखें | धन्यवाद |

>> इन्हें भी अवश्य पढ़ें :-

भारत के युवा लोग जो अपने जीवन में नई ऊंचाईयों को छूने का जज्बा रखते हैं, यह ब्लॉग उन्हें जीवन के विभिन्न पहलुओं को बड़े ही व्यवहारिक तरीकों से अवगत करवाता है |

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *